Fixed Deposit: आप सात दिनों से लेकर कई सालों तक एक निश्चित राशि की FD ले सकते हैं. आपको मैच्योरिटी पर ब्याज के साथ मोटी रकम मिलती है. आप अपनी जरूरत के हिसाब से FD करा सकते हैं. FD का मतलब है फिक्स्ड डिपॉजिट, यानी अपने पैसे को निवेश करने का तरीका जो आपको अधिक रिटर्न दे सकता है. FD में आप एक निश्चित समय के लिए राशि बैंक में जमा करते हैं और उस पर आपको एक निश्चित ब्याज मिलता है.Also Read - RBI On Fixed Deposit: फिक्स्ड डिपॉजिट को लेकर RBI ने बदले नियम, एक छोटी सी गलती पर चुकानी होगी कीमत, यहां पाएं पूरी जानकारी

आज हम आपको उन टॉप 5 बैंकों के बारे में बताने जा रहे हैं जहां अगर आपने FD करवा ली है या लेने की सोच रहे हैं तो सितंबर महीने में आपको फायदा होने वाला है. आपको बता दें कि बैंकों द्वारा तय की गई ब्याज दर 4 से 11 फीसदी के बीच हो सकती है. Also Read - Fixed Deposit: FD में निवेश करने से पहले इन पांच बातों का रखें ध्यान, रिटर्न बढ़ाने में मिलेगी मदद

जानिए- कौन से बैंक दे रहे हैं ज्यादा ब्याज? Also Read - Fixed Deposit Scheme: SBI, BoB समेत ये बैंक दे रहे हैं FD पर ज्यादा ब्याज, 30 सितंबर तक है मौका

  • अगर आपने बैंकों में 5 साल के लिए कोई FD ली है जिसके बारे में हम आपको बता रहे हैं तो इस महीने आपको काफी फायदा होने वाला है. इन बैंकों में FD आपके लिए टैक्स सेविंग भी होगी.
  • अगर आपने आरबीएल बैंक में एफडी की है तो आपको 6.50 फीसदी की दर से ब्याज मिलेगा.
  • इसके बाद इंडसइंड बैंक 6 फीसदी की दर से ब्याज देगा.
  • करूर वैश्य बैंक को भी 6 प्रतिशत की दर से ब्याज मिलेगा.
  • डीसीबी बैंक को 5.95 की दर से ब्याज मिलेगा.
  • आईडीएफसी फर्स्ट बैंक में एफडी कराने वालों को 5.75 फीसदी की दर से ब्याज मिलेगा.
  • एक साल की FD पर कितना मुनाफा
  • अगर आपने आरबीएल बैंक में एफडी की है या लेने की सोच रहे हैं तो आपको 6.10 फीसदी की दर से ब्याज मिलेगा.
  • इसके बाद इंडसइंड बैंक 6 फीसदी की दर से ब्याज देगा.
  • इसी तरह डीसीबी बैंक में जमाकर्ता को एफडी पर 5.55 फीसदी ब्याज मिलेगा.
  • बंधन बैंक में आपको FD पर 5.50 फीसदी की दर से ब्याज मिलने वाला है.
  • इस जमाकर्ता को आईडीएफसी फर्स्ट बैंक में 5.50 प्रतिशत की दर से ब्याज मिलने वाला है.
  • FD एक पसंदीदा विकल्प क्यों है

सावधि जमा (FD) को हमेशा से सुरक्षित निवेश के लिए लोगों का पसंदीदा विकल्प माना गया है. ज्यादातर लोग FD कराते हैं. आप सात दिनों से लेकर कई सालों तक एक निश्चित राशि की FD प्राप्त कर सकते हैं. आपको मैच्योरिटी पर ब्याज के साथ मोटी रकम मिलती है. आप अपनी जरूरत के हिसाब से FD करा सकते हैं.

जरूरत से ज्यादा पैसे होने पर कराएं एफडी

अगर आपके पास अभी जरूरत से ज्यादा पैसा है और आपको लगता है कि 5 या 10 साल बाद आपको इस पैसे की जरूरत पड़ेगी तो आप उतने ही समय के लिए FD करवा सकते हैं. जाहिर है, 10 साल की FD पर रिटर्न एक साल की FD से कहीं ज्यादा होगा. तो आप अपनी जरूरत के हिसाब से ज्यादा से ज्यादा समय के लिए FD करवा सकते हैं.

जानिए- ब्याज दरों के बारे में

FD कराने से पहले आपको ब्याज दरों के बारे में पता होना चाहिए और संतुष्ट होना बहुत जरूरी है. फिलहाल FD की ब्याज दरें 6 से 7 फीसदी के आसपास हैं. वरिष्ठ नागरिकों को 0.25% अधिक ब्याज दिया जाता है. संचयी मोड में निवेश की गई राशि परिपक्वता तक बंद रहती है और एकमुश्त रिटर्न देती है. दूसरी ओर, गैर-संचयी मोड में, हर महीने, हर तीन महीने या हर छमाही या सालाना एक निश्चित दर पर ब्याज का भुगतान किया जाता है.