देवास: उत्तर प्रदेश से अपने ही धर्म की नाबालिग प्रेमिका को ले जा रहे 16 वर्षीय एक हिंदू लड़के को ‘मुस्लिम’ समझकर एक दर्जन से अधिक लोगों ने मध्य प्रदेश के देवास जिले में पुलिस हिरासत में जमकर पिटाई कर दी. यह घटना देवास जिला मुख्यालय से करीब 17 किलोमीटर दूर देवास-भोपाल मार्ग पर भौंरासा टोल टैक्स पर चार दिन पहले हुई। यह जानकारी एक पुलिस अधिकारी ने शनिवार को दी है. अधिकारी ने कहा कि आरोपियों को लगा कि 12 साल की हिंदू लड़की को बहला-फुसलाकर अपने साथ ले जा रहा 16 वर्ष का हिंदू लड़का मुस्लिम है, इसलिए उसकी पिटाई की.Also Read - उत्तर प्रदेश में मानसून के फिर जोर पकड़ने की संभावना, जानिए यूपी में कब और कहां होगी बारिश

अधिकारी ने बताया, ”उन्हें (पिटाई करने वाले लोगों) लगा कि यह लव जिहाद का मामला है. हम उन्हें लगातार बता रहे थे कि दोनों हिंदू समुदाय से हैं, लेकिन उन्होंने हमारी बात नहीं सुनी और पिटाई करते रहे. यह घटना चार दिन पहले हुई थी.” अधिकारी ने अपना नाम न छापने की शर्त पर बताया कि यदि हमने उसे बचाया नहीं होता, तो शायद वह मर जाता. Also Read - Rajya Sabha Bypolls: राज्‍यसभा की 6 सीटों के लिए EC ने इन 5 राज्‍यों में किया चुनाव का ऐलान

वहीं, सोनकच्छ अनुविभागीय अधिकारी पुलिस (एसडीओपी) प्रशान्त सिंह सेंगर ने बताया कि इस नाबालिग लड़के और लड़की के उत्तर प्रदेश के बलिया से भागकर आने की सूचना मिली थी। स्थानीय पुलिस को दोनों को पुलिस अभिरक्षा में लेने के लिए कहा गया था, जिस पर पुलिस टीम ने भौंरासा टोल टैक्स पर बसों को रोककर चेकिंग शुरू की थी. Also Read - UP: AIMIM चीफ ओवैसी को बाराबंकी में जनसभा को अनुमति नहीं मिली, सिर्फ कार्यकर्ताओं से ही मिल पाएंगे

सेंगर ने कहा कि उत्तर प्रदेश से अहमदाबाद के लिए जाने वाली बस की चेकिंग के दौरान ये दोनों नाबालिग मिल गए. उन्हें बस से उतारा गया. इस बीच उनका कार से पीछा कर रहे कुछ लोग भी आ गए और पुलिस की उपस्थिति में लड़के के साथ मारपीट करने लगे.

पुलिस टीम ने भीड़ से छुड़ाकर लड़के को औद्योगिक थाने भेजा. साथ ही लड़की को महिला थाने भिजवाया गया. इस बीच, बच्चों का पीछा करते हुए उत्तर प्रदेश पुलिस की टीम भी स्वजनों के साथ इंदौर आ रही थी. बाद में दोंनों बच्चों के परिजन उत्तर प्रदेश पुलिस की अभिरक्षा में दोनों को ले गए.

एसडीओपी सेंगर ने बताया कि लड़के के साथ आरोपियों द्वारा मारपीट का वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हुआ था. वायरल वीडियो के आधार पर भौरासा थाने में चार नामजद आरोपियों सहित 15 अज्ञात लोगों के खिलाफ भादंवि की धारा 353, 147, 323 औऱ 294 के तहत मामला दर्ज किया गया है. उन्होंने कहा कि अब तक किसी भी आरोपी गिरफ्तारी नहीं हुई है. पुलिस उनकी तलाश कर रही है.